Navratri से जुड़े रोचक जानकारी | नवरात्री

Navratri से जुड़े रोचक जानकारी | नवरात्री 

नवरात्री  (Navratri) हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से  है जो नौ रातों (और दस दिनों) तक मनाया जाता है। नवरात्री (Navratri) शब्द संस्कृत से बना हुआ है, जिसका अर्थ  है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिन, शक्ति / देवी के नौ स्वरूपों की पूजा होती है। भारतीय उपमहाद्वीप के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है।   त्योहार हिंदू कैलेंडर माह अश्विन के उज्ज्वल आधे में मनाया जाता है, जो आमतौर पर सितंबर और अक्टूबर के Gregorian महीनों में पड़ता है।

जैसा की हम सब जानते है की दसवाँ दिन दशहरा के नाम से जाना जाता है। इस दिन रावण दहन करने की परम्परा भी होता है। नवरात्री (Navratri) साल  में चार बार आता है। पौष, चैत्र,आषाढ,अश्विन प्रतिपदा से नवमी तक मनाया जाता है। नवरात्री  (Navratri) में  दिनों में तीन देवियों – महालक्ष्मी जी , सरस्वती जी और दुर्गा जी के नौ रूपों  की पूजा की जाती  है जिन्हें नवदुर्गा  जाना जाता हैं। दुर्गा का अर्थ होता है जीवन के दुख को  ख़त्म करने वाली। नवरात्रि एक महत्वपूर्ण त्योहार है जिसे हमारे भारत में बहुत  उत्साह के साथ मनाया जाता है।

Navratri, दुर्गा पूजा, दशहरा, Durga pooja, west Bengal Durga pooja, Bengali Durga pooja 

 

 

Navratri से जुड़े रोचक तथ्य

 

  1. वर्ष में चार बार नवरात्री (Navratri) आती है जिसमे चैत्र और अश्विन माह की नवरात्री  ज्यादा प्रचलित है। ये बहुत ही कम लोगों को जानकारी है कि पूरे वर्ष में चार बार नवरात्रि मनाई जाती हैं।
  • वसंत नवरात्री (Navratri) – मार्च/अप्रैल
  • आषाढ़ नवरात्री (Navratri) – जून/जुलाई ( गुप्त नवरात्री   )
  • शारदीय नवरात्री (Navratri) – बड़ी और मुख्य नवरात्रि –सितम्बर/अक्टूबर
  • पौष नवरात्री (Navratri) – दिसम्बर/जनवरी ( गुप्त नवरात्री )

 

  1. माँ शक्ति के नौ स्वरुप की पूजा नवरात्री (Navratri) के दिनों में की जाती है।
  • शैलपुत्री – इसका अर्थ- पहाड़ों की पुत्री होता है।
  • ब्रह्मचारिणी – इसका अर्थ- ब्रह्मचारीणी।
  • चंद्रघंटा – इसका अर्थ- चाँद की तरह चमकने वाली।
  • कूष्माण्डा – इसका अर्थ- पूरा जगत उनके पैर में है।
  • स्कंदमाता – इसका अर्थ- कार्तिक स्वामी की माता।
  • कात्यायनी – इसका अर्थ- कात्यायन आश्रम में जन्मि।
  • कालरात्रि – इसका अर्थ- काल का नाश करने वली।
  • महागौरी – इसका अर्थ- सफेद रंग वाली मां।
  • सिद्धिदात्री – इसका अर्थ- सर्व सिद्धि देने वाली।

 

  1. इन नौ दिन के दौरान  तीन शक्तिशाली देवी की  महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा जी की  पूजा-अर्चना की जाती है। माँ दुर्गा जी की पूजा-अर्चना नकारात्मक (Negativity) और बुराई  को दूर करने के लिए की जाती है। माँ लक्ष्मी   की पूजा धन और समृद्घि प्राप्त के लिए और अंत में माँ सरस्वती जी की पूजा ज्ञान और बुद्घि को बढ़ाने के लिए की जाती है। दुर्गा पूजा, दशहरा, Durga pooja, west Bengal Durga pooja, Bengali Durga pooja 

 

  1. हिन्दू किवदंतियों के मान्यता अनुसार नवरात्री (Navratri) का Festival विशेष रूप से राम जी और रावण के बीच चली लंबी लड़ाई दर्शाता है। दुर्गा पूजा, दशहरा, Durga pooja, west Bengal Durga pooja, Bengali Durga pooja 

 

  1. पुराणों के अनुसार, दुर्गा माँ के आगे महिषासुर द्वारा विवाह का प्रस्ताव रक्खा गया पर देवी दुर्गा जी ने उसके आगे शर्त रखा कि अगर वो उन्हें युद्ध में हरा देता है तो वह महिषासुर साथ विवाह करने के लिए तैयार हो जाएंगी। महिषासुर ने यह प्रस्ताव स्वीकारा और युद्ध करने के लिए तैयार हो गया और युद्ध नौ दिनों तक चला और अंत में दसवी रात्रि में माँ दुर्गा जी ने इस महिषासुर राक्षस का संहार किया। इसीलिए, माँ दुर्गा को महिषासुर मर्दनी भी कहते हैं। तभी से ये रात्रि दशहरा और  विजयालक्ष्मी के पर्व के रूप में मनाया जाता है।

Gandhi Jayanti के बारे में रोचक तथ्य जो पहले नहीं सुना होगा।

 

  1. हिन्दू धर्म के लोग इन नौ दिनों के दौरान हिन्दू धर्म के ज्यादातर लोगउपवास रखते है। बंगाल समाज के लोगों को छोड़कर सभी हिन्दू धर्म के इस त्यौहार में विशेष रूप से शुद्ध शाकाहारी भोजन ही ग्रहण करते हैं।

 

  1. नवरात्री (Navratri) के सातवें दिन, सरस्वती जी कला और ज्ञान की देवी, की पूजा की है। प्रार्थनायें, आध्यात्मिक ज्ञान की तलाश के उद्देश्य के साथ की जाती हैं। दुर्गा पूजा, दशहरा, Durga pooja, west Bengal Durga pooja, Bengali Durga pooja 

 

  1. नवरात्री (Navratri) के नौवा दिन जो की समारोह का अंतिम दिन होता है। यह महानवमी के नाम से भी प्रसिद्ध है। महानवमी के दिन कन्या पूजन होता है। नौ छोटी कन्या की पूजा होती है। इन नौ कन्या को देवी दुर्गा के नौ रूपों का प्रतीक माना जाता है। कन्याओं का सम्मान तथा स्वागत करने के लिए कन्याओं के पैर धोए जाते हैं, सभी को भोजन कराया  जाता है और पूजा के अंत में कन्याओं को उपहार के रूप में नए कपड़े और बहुत से उपहार  पेश किए जाते हैं।

 

  1. गुजरात के प्रसिद्ध गरबा डांस में मिट्टी के दिए को रखा जाता है, जो कि देवी माँ की शक्ति और ताकत को दर्शाता है। इस दिआ के आसपास डांस करना यह संकेत देता है कि कैसे हम में से प्रत्येक व्यक्ति ऊर्जा उत्पन्न करता है। आप जितना अधिक डांस करेंगे, उतनी अधिक आपकी ऊर्जा बढ़ेगी। दुर्गा पूजा, दशहरा, Durga pooja, west Bengal Durga pooja, Bengali Durga pooja 

उम्मीद है Navratri से जुड़े हुए रोचक तथ्य जान कर अच्छा लगा होगा, इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यबाद, जल्द ही मिलते है एक नए आर्टिकल के साथ। 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.