Jasprit Bumrah Story in Hindi | Biography

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah)

किसी ने सच ही कहा है, “जिंदिगी खेलती भी उसी के साथ है जो खिलाड़ी बेहतरीन होता है” अगर यह लाइन  भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह(Jasprit Bumrah) पर सटीक लगती है  तो गलत नही हो होगा क्यूंकि तेज गेंदबाज़ी की दिशा में   हमेशा से पीछे रहने वाली भारतीए क्रिकेट टीम को नई ताकत देने वाले जसप्रीत बुमराह का अभी तक का यह सफर आसान नहीं रहा था। क्यूंकि एक मिडल क्लास फैमली में जन्म लेने के बाद अगर घर के मुखिया का देहांत जल्दी हो जाए तो जिंदिगी मनो रुक ही जाती है।  लेकिन किस तरह से बुमराह ने अपने संघर्ष के दम पर सफलता पाई आज के इस आर्टिकल में जानेंगे। उम्मीद है यह आर्टिकल पढ़ कर आपको अच्छा लगेगा तो चलिए सटीक यार्कर और तेज रफ़्तार किसी भी बल्लेबाज को परेशान करने वाले बुमराह के जिंदिगी की कहानी को शुरू से जानने की कोशिस करते है। jasprit Bumrah, success story

जसप्रीत बुमराह ( Jasprit Bumrah ) का बचपन

इस कहानी की शुरआत होती है 6 दिसंबर 1993 से जब गुजरात के अहमदाबाद में जसप्रीत बुमराह(Jasprit Bumrah) का जन्म हुआ था उनके पिता जी का नाम जसवीर सिंह था जो की पेशे से बिज़नेस मैन थे। और उनकी माता जी  का नाम दलजीत कौर था जो पेशे से एक स्कूल में प्रिंसिपल के पद पे थी, इसके अलावा उनकी परिवार में उनकी एक बहन भी थी जिसका नाम जुहिका था।

 

वर्ल्डकप के रोचक तथ्य India vs Pakistan Shocking Facts

 

  शुरू से ही बुमराह को खेलों  बड़ी दिलचस्पी थी, शुरू से क्रिकेट को बहुत ज्यादा पसंद करते थे और शुरू से वो आम बच्चे से अलग थे क्यूंकि जहा आमतौर पर बच्चों को बैटिंग करना पसंद रहता है वही इनको बॉलिंग करना अच्छा लगता था।  और इसीलिए बुमराह आसानी से अपने खेल को आगे ले जा  सकते थे, साथ ही शुरूआती समय में अपने स्कूल की पढ़ाई “निर्माण हाई स्कूल” से की जिसमे उनकी माँ ही प्रिंसिपल के तौर पे काम किया करती थी।jasprit Bumrah, success story

 जसप्रीत जब 7 साल के थे तब उनहोनें एक गंभीर बीमारी के कारण अपने पिता को खो दिया और इस कठिन समय में मनो उनके परिवार पर आफत ही टूट पड़ी, इस घटना से जसप्रीत के साथ साथ उनकी बहन और माँ सभी लोगों को गहरा सदमा पहुँचा लेकिन जसप्रीत की माँ न खुद को बहुत जल्दी संभाला और अपने बच्चों के भविष्य को बनाने में जुट गयी फिर समय के साथ बुमराह का इंट्रेस्ट क्रिकेट में बढ़ता गया और 14 साल की उम्र में  उनहोंने क्रिकेट में करियर बनाने की इच्छा अपने माँ के सामने रखी, पहले तो उनकी माँ ने सीधा मना कर दिया क्यूंकि वह जानती थी भारत के अंदर इस क्रिकेट के खेल में  कम्पटीशन कितना ज्यादा है।  जब जसप्रीत के अंदर इस खेल का पागलपन देखा तो आखिर  मान गयी।

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah)का कर करियर

जसप्रीत बुमराह ने अपने बोलिंग से सभी को इतना  प्रभावित किया की उन्हे MRF PACE Foundation की ट्रेनिंग लिए चुना गया। आपको बता की MRF PACE Foundation चेन्नई में स्तिथ है यहाँ पर तेज गेंदबाज के लिए कोचिंग सेंटर है जहाँ पर अनुभवी कोच और एक्सपर्ट की देख रेख में गेंदबाज अपनी गेंदबाजी को निखारते है ,इसी फाउंडेशन ने भारत को इरफ़ान पठान, मुनाफ पटेल, R.P  सिंह, ज़ाहिर खान, श्रीसंथ जैसे कई सारे तेज गेंदबाज दिए और यहाँ पर आकर बुमराह को अपनी गेंदबाजी निखारने में काफी मदद मिली। उनकी परफॉरमेंस को देखते हुए उन्हे 2013 में गुजरात की अंडर 19 टीम में मौका दिया गया। यहाँ पर अपना पहला मैच Vaidarbha टीम के खिलाफ खेलते हुए उन्होंने कुल 7 विकेट लिए इस तरह से उन्होंने First Class Cricket की शुरुआत काफी शानदार तरीके से की। 

 

फिर आगे चलकर Syad Mushtaq Ali Trophy में उनके शानदार खेल को देखते हुए  2013 में जॉन ब्राइट ने उन्हे IPL के अंदर मुंबई की टीम में खिलाने का निर्णय लिया, इस तरह से जसप्रीत ने 19 साल की उम्र में IPL में अपना डेब्यू किया। और यहाँ पर अपने डेब्यू मैच में RCB के खिलाफ 32 रन देकर 3 विकेट लेकर अपने सिलेक्शन को सही ठहराया। 2014 में उनका प्रदर्शन ठीक रहा लेकिन 2015 में इंजरी की वजह से वो IPL तो नहीं खेल सके लेकिन उनका घरेलू प्रदर्शन काफी शानदार रहा इसी वजह से उन्हे 27 जनवरी 2016 को भारत की तरफ से T20  खेलने का मौका मिला, उन्होंने अपना डेब्यू मैच ऑस्ट्रलिआ के खिलाफ खेला और बहुत ही जल्द वो बुमराह भारत टीम का अहम् हिस्सा बन गए। और 2016 में T20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी बने।  जब भी बुमराह को मौका मिला वो अच्छा प्रदर्शन करते रहे, देखते देखते वो ना की सिर्फ भारत के बल्कि पूरी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बॉलर बने। और उनकी ICC रैंकिंग नंबर 1 है। jasprit Bumrah, success story

अंत में दोस्तों बस यही कहना चाहूँगा की आम परिवार में जन्म लेने के बाद, मुश्किल समय से लड़ कर किस तरह से जसप्रीत बुमराह ने सफलता पाई वह काबीले तारीफ है हम आगे भी इनके सफल करियर की कामना करते है।  उम्मीद करते है जसप्रीत बुमराह के सफलता की कहानी आपको पसंद आई होगी और बहुत प्रेरित भी करेगी आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.