सवतंत्रा दिवस से जुड़े आश्चर्यजनक बातें। Independence Day in Hindi

आज का आर्टिकल हमरे लिए बहुत ही ज्यादा खास है क्यूंकि ये पोस्ट हमारे सवतंत्रा दिवस के ऊपर है ये दिन हम सभी भारतीए के लिए बहुत ज्यादा खास होता है, में हम आपको स्वतंत्रा दिवस (Independence day in hindi) के बारे में बहुत ही ज्यादा रोचक और महत्वपूर्ण जानकारी बातएंगे 

(Independence Day In hindi)

स्वतंत्रा दिवस (Independence Day In Hindi) हर साल 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रा दिवस मनाया जाता है,इस बार हमारे सवतंत्रा  का 72 वर्ष है। यह दिन हमारे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है,आज के दिन हमें 15 अगस्त 1947 में ब्रिटिश साशन कल से पूर्ण रूप से सवतंत्र हो गए थे, हमारा अपना “स्वराज” मिल गया था। हर साल की तरह “भारत के प्रधनमंत्री” लाल किलके प्राचीर से देश को संबोधित करते और झंडा फहराते है। भारत का ये राष्ट्रीय त्यौहार है,भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जी ने 15अगस्त 1947 में लाल किले के लाहोरी गेट के ऊपर राष्ट्रीय ध्वज को फ़हरया गया था। 

स्वतंत्रा दिवस की रोचक और आश्चर्यजनक बातें (Independence Day In Hindi)

 

  • 1947 में भारतीय 1 रूपया 1 डॉलर के बराबर होता था। (1 rupee = $ 1 ) और अगर आज देखा जाये तो,1 रूपया = $ 69.09 है।(Independence Day In hindi)

 

  • जैसा की हम सब जानते है राष्ट्रीय ध्वज लाल किला पे फहरया जाता है लेकिन भारत का प्रथम राष्ट्रीय ध्वज 7 अगस्त 1906 में कलकत्ता के पारसी बागान स्क्वायर (Parsee Bagan Square) में फहरया गया था इस ध्वज में लाल, पिले और हरे रंग की पट्टिया थी।

independence day,(Independence Day In hindi)

  • 15 अगस्त को भारत के साथ-साथ 5 अन्य देश बहरीन, उत्तरी कोरिया, दक्षिण कोरिया, लिकटेंस्टीन और कांगो गणराज्य  (Bahrain, North Korea, South Korea, Liechtenstein and Republic of Congo)भी स्वतंत्रा दिवस मानते हैं

 

  • जैसा की हम सभी जानते है पंडित जवाहरलाल नेहरू(Pandit Jawaharlal Nehru) भारत के प्रथम प्रधान मंत्री थे ,लेकिन वो सबकी  पहली पसंद नहीं थे, सरदार वल्लभ भाई पटेल जी  (Sardar Vallabhbhai Patel) के पास मेजोरिटी थी लेकिन गाँधी जी के अनुरोध करने पर सरदार वल्लभ भाई जी पीछे हो गए।

    (Independence Day In hindi)

independence day,(Independence Day In hindi)

  • भारत को अनौपचारिक(unofficially)रूप से 18 july 1947 को ही आजादी  मिल गया था लेकिन लॉर्ड माउंटबेटन (Lord Mountbatten) ने 15 अगस्त का दिन चुना क्यूंकि उसी दिन (15 अगस्त ,1945) दुशरे विश्व युद्ध में  जापान ने हर मान  था

 

इतने बड़े देश में ध्वज बनाने का लइसेंस बस एक को ही मिला है ,खादी विकास और ग्रामोद्योग आयोग भारत के गौरवशाली ध्वज बनाने के लिए अधिकृत है। धारवाड़ में कर्नाटक खादी ग्रामोडोग संय्य संघ पहले की किस्मों की बजाय कपास का उपयोग करके ध्वज का एकमात्र निर्माता है।

 

सोने(Gold) का का सफर(Independence Day In hindi)

आजादी के समय(1947) में 10 ग्राम सोने(gold) की कीमा मात्र 88.62 रुपया था और अगर आज का रेट देखा जाए तो 10 ग्राम का रेट 29000 के पास है।

जब भारत आजाद हुआ था तब भारत के पास राष्ट्रीय गान नहीं था लेकिन हमारा राष्ट्रीय गान “जन गण मन ” रबिन्द्र नाथ टैगोर जी ने 911 में लिखा था और इसे 1950 औपचारिक (offically) राष्ट्रीय गान माना गया।

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.