भारतीय संविधान के बारे में रोचक तथ्य|Indian constitution in hindi

Constitution in hindi, Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान 

जैसा की हम सभी को मालूम है की भारत में संविधान से सर्वोपरि कुछ भी नहीं है। हर देश की संविधान उस देश की आत्मा होती है। जब भारत आजाद हुआ उसके बाद से संविधान को ही अनुसरण किया जाता है। आजादी से पहले भारत ब्रिटिश कानून  का उपयोग किया जाता था। और जबरदस्ती भारतवासी पर लागू किया जाता था।  हमारे देश भारत को बहुत लम्बी लड़ाई लड़ने के बाद 15 अगस्त 1947 को पूर्ण रूप से आजादी मिली। आजादी से पहले हमारे देश पर अंग्रेजी शासक  हुकूमत करती थी वो अपने हिसाब से भारत देश  चलती थी।

 

भारत का संविधान  बनाने में  राजनेता और विचारकों महत्त्वपूर्ण योगदान है जिसे हम कभी भूल सकते है। डॉ राजेन्द्र प्रसाद की अध्यक्षता में डॉ भीमराव आंबेडकर और अन्य राजनेता ने 26 नवंबर 1949 को संविधान को पूरा किया। संविधान  पूरा 2 साल 11 महीने 18 दिन का समय लगा और 26 जनवरी 1950 को  संविधान लागू कर दिया। आज के पोस्ट में हम अपने संविधान के बारे में रोचक और अस्चर्याजनक बातें जो बहुत काम लोगो को पता होगी उम्मीद है ये पोस्ट पढ़कर आपको अच्छा लगेगा तो चलिए शुरू करते है।

Constitution in hindi, Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

भारतीय संविधान ( Indian constitution in hindi)के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य

  • भारत का संविधान पूर्ण रूप से हस्त लिखित है मतलब इसे हाथो से लिखा गया है। और इसे श्री प्रेम बिहारी रायजादा के द्वारा लिखा गया  था। हमारे संविधान के  हर पन्ने को बहुत खूबसूरती से सजाया गया, प्रत्येक पन्ने को शांतिनिकेतन के कलाकारों द्वारा सजाया गया था। Indian constitution in Hindi, भारतीय संविधान

 

  • पुरे विश्व की तुलना में भारत का संविधान सबसे लम्बा और सबसे बड़ा है। और हमारे संविधान में कुल मिलाकर 25  भाग है 448 आर्टिकल और 12 अनुभाग है। इसमें कुल मिलकर 117,369  शब्द का उपयोग किया गया, इसको लिखते समय 254 पेन का इस्तेमाल किया गया और बनाते  समय3 करोड़ रूपया का खर्चा हुआ।

 

  • हमारे संविधान की असली प्रतियाँ (original copies) आज के समय में भी भारत के संसदभवन में  मौजूद है और इसे हीलियम में के अंदर डालकर लाइब्रेरी में रखा हुआ है। Indian constitution in hindi, संविधान

 

  • हमारे संविधान बनने के बाद जब इस पर चर्चा होने के बाद संविधान में 2000 बदलाव किए गए। Constitution in hindi, Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

 

  • भारत के संविधान को प्रेम बिहारी रायजादा ने अपने हाथो से इटैलिक में लिखा था। राममनोहर   सिन्हा और नन्दलाल बोस ने मिलकर अपने हाथों से सजाया था जो की शांतिनिकेतन के कलाकार थे।

 

  • संविधान सभा के सदस्यों की संख्या 389 रखी गयी जिसमे 292 ब्रिटिश प्रांतो प्रतिनिधि थे 4 चीफ कमिश्नर के प्रतिनिधि थे, फिर सदस्यों की संख्या घटाकर  299 हो गयी। Indian constitution in hindi

 

  • भारत के संविधान में पहली बार सन 1951 में संशोधनकिया गया था Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

 

  • भारत का संविधान बनना सन 1946 में शुरू हुआ और 26 नवंबर 1949 में बन कर तैयार हुआ और लागू 26 जनवरी 1950 को हुआ। 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्यूंकि इस “पूर्ण स्वराज” की वर्षगांठ थी।  Indian constitution in hindi

 

Earth Facts In Hindi

 

  • डॉ भीम राव आंबेडकर आजाद भारत के पहले कानून मंत्री थे, संविधान सभा कमेटी के चैयरमेन भी थे, और उन्हे संविधान के पिता के रूप में जाना जाता है। Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

 

भारत का संविधान 10 अलग अलग देश से भी लिया गया है इसलिए हमारे संविधान को उधार लिया हुआ बैग के नाम से भी जाना जाता है। constitution in Hindi, Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

 

.  पांच वर्ष की शासन कल का विचार सोवियत संघ से लिया गया था।

. सामाजिक समानता और आर्थिक अधिकार का विचार आयरलैंड से लिया गया है। 

. भारत के संविधान में “Liberty, Equality,and the Faternity” शब्द फ़्रांस की क्रांति से प्रेरित होकर लिए गए है।

. व्यापार के प्रावधान ऑस्ट्रलिआ के संविधान से लिया गया है। 

. आपातकालीन स्तिथि के प्रावधान जर्मनी से लिया गया है।

. फेडरल सिस्टम संघ और राज्य के बीच पॉवर बटवांरा कैसे हो, ये कनाडा से लिया गया है।

Sushma Swaraj Biography|सुषमा स्वराज का जीवन परिचय

. भारत के संविधान की प्रस्तवना (preamble) अमेरिका की संविधान से प्रेरित है।

. भारत के जिस कानून के अंतर्गत सुप्रीम कोर्ट काम करता है वो हिस्सा जापान की संविधान से लिया गया है। Constitution in hindi, Indian constitution in hindi, भारतीय संविधान

 

 

उम्मीद है आपको  भारतीय संविधान के बारे में रोचक तथ्य के बारे में पढ़ कर आपको अच्छा लगा होगा आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।  यदि आपको कोई समस्या या सुझाव हो तो निचे कमेंट करे।

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.