Amit Shah Biography in Hindi| Home Minister

Amit Shah Biography in Hindi | Politician| Home Minister

दोस्तों भारतीय राजनितिक के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह को तो आप सभी जानते ही होंगे। अमित शाह (Amit Shah) नरेंद्र मोदी जी के कैबिनेट में भारत के गृह मंत्री का पद संभाले है। और बीते कुछ सालो में बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी बनाने में अमित शाह का अहम् योगदान है। 

यहाँ तक की इस समय बीजेपी का ऐसा बोलबाला है की  केंद्र हो यह राज्य हर जगह bharatiya janata party(BJP) ही छाई हुई है। और दोस्तों अगर आज बीजेपी(BJP) बुलंदियो को छू रही है तो फिर राजनीती के चाणक्य कहे जाने अमित शाह (Amit Shah) का पार्टी में बहुत बड़ा हाथ है। life story, success story 

दोस्तों जम्मू&कश्मीर (Jammu&Kashmir) से धरा 370 और आर्टिकल 35A हटाने में अमित शाह (Amit Shah) ने सबसे जरुरी किरदार निभाया। एक बार फिर से लाजवाब मैनेजमेंट की वजह से इस केस में हर तरफ उनकी तारीफ हो रही है।  यह फैसला तारीफ के काबिल तो है ही क्यूंकि इन धाराओं के हटने के बाद से कश्मीर में पहले की अपेक्षा अब ज्यादा तेजी से विकास होगा। Amit Shah Biography in Hindi

Amit Shah का शुरूआती समय

आज के इस आर्टिकल हम जानेंगे की किस तरह से सफर तय करते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने राजनीती यह मुकाम हासिल किया।दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है 22 अक्टूबर 1964 से जब सपनो के शहर मुंबई (Mumbai) में अमित शाह का जन्म हुआ। अमित जी के पिता का नाम अनिल चंद्र शाह है जो की गुजरात के मनसा (Mansa) टाउन में PVC pipes का बिज़नेस किया करते थे।  अमित शाह की माँ का नाम कुसुम बेन है। भले ही अमित जी का जन्म मुंबई में हुआ लेकिन गुजराती होने की वजह से वो गुजरात में ही पले-बढ़े। उन्होंने ने  पढ़ाई मेहसान (Mehsana) शहर के एक स्कूल से की फिर आगे चलकर CU Shah Science College Ahmedabad से  उन्होंने Biochemistry की पढ़ाई की. Amit Shah Biography in Hindi

Amit Shah की राजनीती का सफर

दोस्तों कॉलेज का ही समय था जब अमित शाह (Amit Shah) राजनीती से जुड़े। कॉलेज में रहते हुए ही वो RSS के संघ  सेवक बन गए थे।  कॉलेज ख़त्म होने  बाद अपने पिता  बिज़नेस में थोड़ा बहुत हाथ बटाया, साथ ही कुछ समय तक स्टॉक ब्रोकर के तौर पर काम किया लेकिन इसके बाद से वो  राजनीती में सक्रिय होने लगे और फिर साल 1982 में अमित शाह नरेंद्र मोदी जी से मिले, और उस समय नरेंद्र मोदी RSS के प्रचारक हुआ करते थे। फिर आगे चलकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से राजनीती शुरू करने के बाद 1987 में अमित शाह ने बीजेपी (BJP)में जुड़ गए।  और दोस्तों बड़ी दिलचस्प बात ये है की अमित शाह ने नरेंद्र मोदी से 1 साल पहले ही बीजेपी (BJP) में जुड़ गए थे, और पार्टी ज्वाइन करने के बाद अमित शाह (Amit Shah) ने भारतीय जनता युवा मोर्चा जो की बीजेपी की Youth Wing है यहाँ से शुरुआत की। Amit Shah Biography in Hindi

अमित शाह amit shah bjp

बहुत ही कम समय में अपने मेहनत और अपने दिमाग की वजह से वह आगे बढ़ते चले गए और फिर युवा मोर्चा के अंतर्गत ही वार्ड सेक्रेटरी, तालुका सेक्रेटरी, स्टेट सेक्रेटरी , Vice- President, और जनरल सेक्रेटरी जैसे ही अलग अलग पोस्ट पे काम करते रहे। और फिर 1991 के लोक सभा के इलेक्शन में लाल कृष्णा अडवाणी के election campaign को manage करते हुए अमित शाह पहली बार ऊपर दिखाई दिए।  1995 में पहली बार बीजेपी (BJP) ने गुजरात में सरकार बनाई जहा पर उस समय कांग्रेस बहुत ताकतवर थी।  इस चुनाव में नरेंद्र मोदी जी और अमित शाह ने मिलकर बहुत ही शानदार काम किया था, दोनों के दिमाग की वजा से ही पहली बार पार्टी ने गुजरात में चुनाव जीता था। और फिर पार्टी में शानदार काम को देखते हुए अमित शाह को सरखेज नाम की जगह से विधानसभा का चुनाव लड़ने का मौका मिला। और ऐसा कहा जाता है की अमित शाह को टिकट दिलाने के लिए नरेंद्र मोदी जी ने सिफारिश की थी, और इस तरह ही मोदी और शाह की दोस्ती सर चढ़ कर बोलने लगी थी और यह चुनाव भी अपने नाम कर लिया। 

 

Sushma Swaraj Biography|सुषमा स्वराज का जीवन परिचय

आगे चलकर अमित शाह 1999 में Ahmedabad District Cooperative Bank यानी की ADCB के अध्यक्ष बनाए गए।  बड़ी Intresting बात यह है की बैंक उस समय तक घाटे में  चल रही थी लेकिन अमित शाह(Amit Shah)  अध्यक्ष बनने के 1 साल बाद ही बैंक मुनाफे में चलने लगी। जब 2001 में Keshubhai patel को हटा कर नरेंद्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री (C.M) बनाया गया तब अमित शाह ने गुजरात के कैबिनेट में अलग अलग मंत्रालय संभाले। दोस्तों intresting खबर यह की एक समय ऐसा भी था जब 12 मंत्रालय (ministry) वो खुद अकेले ही संभाल रहे थे।  इसी तरह आगे भी अमित शाह बीजेपी (BJP) में अहम् किरदार निभाते चले गए। success story, life story, Amit Shah Biography in Hindi

2014 के लोक सभा (Lok Sabha) के election में नरेंद्र मोदी को जितने में अमित शाह ने अहम् भूमिका निभाई थी, और इसी साल उन्हे बीजेपी (BJP) का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया।  यहाँ से तो अमित शाह के दिमाग और नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2014 के बाद 2019 में बीजेपी ने एकतरफा जीत हासिल की और इस बार अमित शाह को गृह मंत्रालय सौंपा गया।  गृह मंत्री बनने के महज 3 महीने में अमित शाह ने धरा 370 को ख़त्म करने का साहसी कदम उठा लिया और इस तरह से साबित किया की उन्हे भारतीय राजनीती का चाणक्य उन्हे यूँ ही नहीं कहा जाता है। दोस्तों उम्मीद करते है अमित शाह ऐसे ही देश हिट में फ़ैसले लेते रहेंगे और देश को नई बुलंदियों तक पहुँचने में अपनी अहम् भूमिका निभाएँगे।  उम्मीद है आपको अमित शाह की लाइफ स्टोरी और उनके राजनीती का सफर जानकर अच्छा लगा होगा आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.